विधानसभा चुनाव 1996 और मथुरा जिला

पिछले अंक में हमने जाना कि जिले की राजनीति में भाजपा की मजबूती स्थायी होती जा रही थी। जनता दल […]

विधानसभा चुनाव 1993 और मथुरा जिला

पिछले अंक में हमने जाना कि जिले में भाजपा की राजनीति का ग्राफ बढ़ रहा था और यहां की छह […]

विधानसभा चुनाव 1991 और मथुरा जिला

पिछले अंक में हमने जाना कि 1989 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने मथुरा जिले की दो सीटों को जीत […]

भारतीय लोक संस्कृति के प्राचीनतम देव हैं शिव

महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर समूचा जनमानस शिव की उपासना के उत्साह से झूम उठता है। ब्रजमंडल में शिव की […]

विधानसभा चुनाव 1989 और मथुरा जिला

पिछले अंक में हमने जाना कि जिले की राजनीति लोकदल और कांग्रेस के मध्य झूल रही थी। 1989 का चुनाव […]

विधानसभा चुनाव 1985 और मथुरा जिला

पिछले अंक में हमने जाना कि मथुरा जिले की राजनीति चौधरी चरण सिंह के नेतृत्व वाली जनता पार्टी सेक्युलर और […]

विधानसभा चुनाव 1980 और मथुरा जिला

पिछले अंक में हमने जाना कि आपातकाल के दौरान बने कांग्रेस विरोधी माहौल का लाभ जनता पार्टी के खेमे में […]

विधानसभा चुनाव 1977 और मथुरा जिला

पिछले अंक में हमने जाना कि 1769 तक मथुरा की राजनीति पर अपना दबदबा कायम रखने वाली कांग्रेस 1974 में […]

विधानसभा चुनाव 1974 और मथुरा जनपद

पिछले अंक में हमने जाना कि 1969 में सम्पन्न हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने अपना दमदार प्रदर्शन किया और […]

विधानसभा चुनाव 1969 और मथुरा जनपद

पिछले अंक में हमने वर्ष 1967 के विधानसभा चुनाव के बारे में जाना कि मथुरा जनपद की छह विधानसभा सीटों […]

विधानसभा चुनाव 1967 और मथुरा जिला

पिछले अंक में हमने जाना कि मथुरा में सोशलिस्ट पार्टी ने अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज कराई। मांट सीट पर राधेश्याम […]

विधानसभा चुनाव 1962 और मथुरा जिला

पिछले दो अंकों में हमने मथुरा जिले की विधानसभाओं में लोगों का रुझान कांग्रेस की तरफ देखा। पर यह स्थिति […]

विधानसभा चुनाव 1957 और मथुरा जिला

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के इतिहास में मथुरा जिले की राजनीतिक गतिविधियों पर चर्चा के क्रम में पिछले अंक […]

पहला विधानसभा चुनाव और मथुरा जनपद

देश और राज्य की बात और चुनावों का केंद्रीय व प्रांतीय स्तर का इतिहास तो हर किसी को पता होता […]

पाबू प्रकाश के काव्य का मूल्यांकन

पाबू प्रकाश एक प्रबन्ध काव्य है जिसमें समसामयिक, सामाजिक और सांस्कृतिक परिस्थितियों के साथ पाबू का सम्पूर्ण चरित्र वर्णित है। […]

error: Content is protected !!